10. December 2018

Mary Kom wiki, age, Image, Husband, Movies, family, Biography in Hindi । मेरी कोम की जीवनी

spotyourstoryNovember 27, 2018
"मैं वह नजारा देख कर स्तब्ध थी । मुझे लगा कि जब वे लड़कियां बॉक्सिंग कर सकती है तो मैं क्यों नहीं?" - मेरी कोम

 

 

 

मेरी कोम की जीवनी । Mary Kom Biography in Hindi

जितना कठिन संघर्ष होगा जीत उतनी ही शानदार होगी ।

ये लाइन मैरी कॉम ( Mary Kom ) पर एकदम से लागु होती है । वर्ल्ड चैंपियनशिप मै 6 गोल्ड जितनेवाली दुनिया की पहली महिला बॉक्सर बन चुकी है । मैरी कॉम ने पूरी दुनिया मै भारत का नाम अपने शानदार खेल से रोशन किया है । मैरी कॉम 3 बच्चों की माँ है । मैरी कॉम का सफ़र इतना आसान नहीं रहा क्यूंकि मैरी एक गरीब किसान के घर पैदा हुई और वो भी लड़की । लेकिन मैरी ने अपने मेहनत और संघर्ष से दुनिया को ये दिखाया की अगर मन मै कुछ ठान लो तो कुछ भी नामुमकिन नहीं है ।

Mary Kom Family, Education, Date Of Birth :

मैंगते चंग्नेइजैंग मैरी कॉम ( Mary Kom full Name ) ये मैरी का पूरा नाम है । मैरी कॉम का जन्म 1 मार्च 1983 ( Mary Kom Birth date )  को मणिपुर के एक छोटेसे गाव कन्गथेइ, भारत मै हुआ । उनके पिता का नाम तोंपा कॉम एक गरीब किसान थे । उनकी माँ का नाम अक्हम कॉम है । मैरी कॉम के परिवार मै एक छोटी बहन और भाई है । मैरी कॉम ने अपनी शुरुवाती पढाई लोकटक क्रिश्चियन मॉडल स्कूल और सेंट हेवियर स्कूल से की । 9th और 10th के लिए वो इम्फाल शहर गई वहापे उन्होंने आदिमजाति हाईस्कूल मै एडमिशन लिया लेकिन वो हायस्कूल की परीक्षा पास नहीं कर सकी। फिर नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ ओपन स्कूल से उन्होंने हायस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा पास की।

मैरी को बचपन से एथलेटिक्स मै दिलचस्पी थी । लेकिन बॉक्सिंग मै करियर बनाने का उन्होंने नहीं सोचा था । उनके मन में बॉक्सिंग का आकर्षण 1999 में उस समय उत्पन्न हुआ जब उन्होंने खुमान लम्पक स्पो‌र्ट्स कॉम्प्लेक्स में कुछ लड़कियों को बॉक्सिंग रिंग में लड़कों के साथ बॉक्सिंग के दांव-पेंच आजमाते देखा। मैरी कॉम बताती है कि

“मैं वह नजारा देख कर स्तब्ध थी । मुझे लगा कि जब वे लड़कियां बॉक्सिंग कर सकती है तो मैं क्यों नहीं?”

लेकिन एक दिन उनके राज्य के बॉक्सर ‘डिंगको सिंघ‘ ने एशियन गेम्स मै गोल्ड मेडल जीता । उनकी इस सफलता ने ही मैरी कॉम को बॉक्सिंग फील्ड मै आने के लिये और भी प्रेरित किया । फिर 15 साल की उम्र मै मैरी ने ठान लिया आगे बॉक्सिंग मै ही करियर बनाना है । फिर इस खेल के ट्रेनिंग के लिए इम्फाल शहर के स्पोर्ट अकैडमी मै एडमिशन लिया । मैरी घरसे दूर रहकर बॉक्सिंग की ट्रेनिंग ले रही थी लेकिन ये बात उनके घरवालों को पता भी नहीं थी। मैरी के घरवाले नहीं चाहते थे की वो बॉक्सिंग खेले क्यूंकि इसमें चोट भी लगती है और अगर चेहरे पर चोट लगे तो शादी मै भी परेशानी आ सकती है। इस वजह से शुरुवात मै उनकी फॅमिली उनके सपोर्ट मै नहीं थी । लेकिन मैरी ने 2000 मै मणिपुर के स्टेट बॉक्सिंग चैंपियनशिप अपने नाम की तब उनकी जित को वर्तमानपत्र और न्यूज़ चैनल पे दिखाया इससे उनके घरवालों को पता चला था। मैरी के मेहनत और लगन को देखकर घरवालों ने भी उन्हें सपोर्ट किया ।

Mary Kom Achievements :

साल 2001 मै मैरी कॉम की मेहनत विश्वस्तर पर भी दिखाई गई जब उन्होंने एआइबीए वुमन वर्ल्ड चैंपियनशिप मै सिल्वर मेडल जीता । अगले साल इसी चैंपियनशिप मै गोल्ड मेडल अपने नाम कर लिया । साल 2005 मै ओन्लर कॉम से मैरी की शादी हुई । शादी के बाद भी उनके पति ने उनका साथ दिया और बॉक्सिंग के खेल मै हमेशा उनको सपोर्ट करते रहे । सभी के सपोर्ट के वजहसे 2001, 2005, 2006, 2008, 2010, 2018 मै मैरी ने अलग अलग जगहों पर वर्ल्ड चैंपियनशिप मै गोल्ड जीतकर इतिहास बनाया । उनकी इस उपलब्धि से प्रभावित होकर एआइबीए ने उन्हें मॅग्नीफ़िसेन्ट मैरी (प्रतापी मैरी) का संबोधन दिया। अभी 24 नवम्बर 2018 को न्यू दिल्ली मै हुये एआइबीए वुमन वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप मै गोल्ड अपने नाम करते हुये 6 बार वर्ल्ड चैंपियनशिप मै गोल्ड जितने वाली वो दुनिया की पहली महिला बॉक्सर बनी । मैरी कॉम 3 बच्चों की माँ होते हुये भी इतना बड़ा काम किया ।

Mary Kom Awards, Movies  :

मैरी कॉम का खेल मै योगदान देखते हुये भारतीय सरकार ने उन्हें 2003 मै अर्जुन पुरस्कार, 2006 मै पद्मश्री और 2009 मै देश का सर्वोच्च खेल सम्मान राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार से सन्मानित किया गया । मैरी कॉम की जीवन पर 2014 मै फिल्म भी बनाई है । मैरी जानवरों की सुरक्षा करनेवाली आर्गेनाईजेशन ‘PETA’ के साथ भी जुडी हुई है ।

और कुछ प्रेरणादायी कहानी :

यदि आपके पास Hindi में कोई Article,Story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail (spotyourstory@gmail.com) करें.
यदि आपको ये कहानी पसंद आई हो तो इसे जरुर Facebook, WhatsAPP,Twitter पे शेयर करे अपने दोस्तों के साथ और निचे कमेंट करे.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


हमारी स्टोरी

इस ब्लॉग का मिशन है की ऐसी स्टोरीज लोगो तक पहुचाई जाये जिससे लोग पढ़कर प्रेरित हो और उनके जीवन में लक्ष्य प्राप्त करनेका हौसला और बुलंद हो।

इस ब्लॉग मै सफल बिसनेस स्टोरीज, सोशल स्टोरीज, और कई प्रेरणादायी व्यक्तियों जीवन संघर्ष के बारे मै आपको पढ़नेको मिलेगी।

अगर आपके पास भी कोई ऐसी स्टोरी है जो आपको लगता है की ये समाज मै एक अलग अपनी छाव छोड़ सकती है तो आप हमारे साथ जरुर शेयर करे  ताकि हम उस स्टोरी को और लोगो तक पंहुचा
सकें जिससे और लोगो को लाभ हो।

Write Your story to –  spotyourstory@gmail.com


संपर्क करे

कॉल करे



Subscribe करे ब्लॉग को


Categories