17. November 2018

JK Rowling Biography in Hindi । जे के रोवलिंग की जीवनी

spotyourstoryMarch 2, 2018
मुश्किलों का तो पहाड़ था उनके सामने... लेकिन खुद पे विश्वास था ... आज है दुनिया की सबसे आमिर लेखिका

JK Rowling Biography in Hindi । जे के रोवलिंग की जीवनी 

 

ImageSource : www.thisisinsider.com

दोस्तों आज हम बात करने वाले है दुनिया के सबसे फेमस राइटर मै से एक हैरी पॉटर नॉवेल की लेखिका JK ROWLING की । जिनके लिखे 7 हैरी पॉटर बुक पर फुल 8 मूवीज बनाये जा चुके है । इसके अलावा हैरी पॉटर को 20 वी सदी का सबसे फेमस नॉवेल माना ज्याता है और इस बुक सीरीज ने दुनिया भर मै बहुत सारे अवार्ड जीते है । और इस बुक की 400 मिलियन से ज्यादा बुक कॉपी बीक चुकी है इसीलिए ये दुनिया बेस्ट सेलिंग बुक रह चूका है । अब ये दुसरे नंबर पर है और अभी DAN BROWN द्वारा लिखी गई द विंची कोड पहले नंबर पर है । अब हम बात करने वाले है जे के रोवलिंग ( JK Rowling Biography in Hindi ) के बारे मै जिन्होंने इतनी कठिनाई मै इन बुक्स को लिखा और एकबार ये बुक complete होने के बाद इसे कोई पब्लिशर पब्लिश करने को तयार नहीं था । लेकिन कैसे आगे चलके इसी बुक की सीरीज, कैसे दुनिया की बेस्ट नॉवेल सीरीज बन गई इसे हम बताते है ।

JK rowling Wiki । Bio : 

31 जुलाई 1965 को Yate,Gloucestershire,England मै जे के रोवलिंग ( JK rowling Age 52  years ) का जन्म हुआ । उनका पूरा नाम ( jk rowling full name ) JOAN KATHLEEN ROWLING है । 4 साल की उम्र मै वो अपने माता पिता के साथ पास के गाव मै रहने आई । जहाँ उन्होंने St Michael’s Primary School से अपनी पढाई पूरी की । यहाँ के प्रिन्सिपल Alfred Dunn को ध्यान मै रखते हुये उन्होंने आगे चलके हैरी पॉटर के हेडमास्टर Albus Dumbledore का किरदार लिखा था । रोवलिंग को शुरू से ही कहानी लिखना बहुत पसंत था और वो बचपन से ही अजीब अजीब कहानी लिखकर अपने बहेन को सुनाती थी । रोवलिंग ने आगे चलके Wyedean School and College से सेकेंडरी स्कूल की पढाई की । उसी समय उनके आंटी ने उन्हें जेसिका मिटफोर्ड की ऑटोबायोग्राफी लाकर दी जिस बुक का नाम था HONS AND REBELS और इस बुक को पढने के बाद रोवलिंग, जेसिका की फैन बन गई और रोवलिंग ने जेसिका की सारी बुक पढ़ ली ।

पढ़िए :

1982 मै रोवलिंग ने Oxford University मै Entrance के लिए exam दिया लेकिन वहाँ उनका सिलेक्शन नहीं हो पाया और इसीलिए मजबूरन उन्हें University of Exeter से पढाई पूरी करनी पड़ी । इस यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन पूरी करने के बाद उन्होंने Amnesty International कंपनी मै सेक्रेटरी के तौर पर काम किया और फिर उन्होंने मेनचेस्टर मै रहकर चेम्बर ऑफ़ कॉमर्स मै काम किया । जब वो मेनचेस्टर से लन्दन आने के लिए ट्रेन से सफ़र कर रही थी तो उनके मन मै जादूगरी के स्कूल मै पढने वाला यंग बॉय की कहानी आई । उसे उन्होंने अपने मन मै पूरी तरह से गढ़ लिया और लंडन मै अपने कैंपस पहुची तो उन्होंने तुरंत लिखना शुरू कर दिया । और उसके कुछ दिनों बाद उनके माँ की मृत्यु हो गई, रोवलिंग की माँ उनके सबसे करीबी थी । उसका प्रभाव उनके लेखन पर भी पड़ा । वह दुखी रहने लगी लेकिन आगे चलके अपने गम को भुलाने के लिये लेखन का सहारा लिया और अपना समय लिखने मै बिताने लगी । कुछ दिनों बाद जॉब की वजह से वो पोर्तुगाल चली गई जहाँ उन्हें इंग्लिश पढ़ाने का काम मिला । वो रात मै जॉब करती और दिन मै लेखन का काम करती ।

 JK rowling Family, Husband, Daughter :

पोर्तुगाल मै उनकी मुलाकात हुई journalist Jorge Arantes ( jk rowling husband ) से, दोनों के विचार आपस मै काफी मिलते जुलते थे और इसीलिए दोनोने 16 अक्टूबर 1992 को शादी कर ली । उनकी बेटी हुई उसका नाम उन्होंने जेसिका ( jk rowling daughter ) रखा । लेकिन बादमे रोवलिंग ने 17 नवम्बर 1993 को तलाख ले लिया । उसके बाद रोवलिंग अपने बच्ची के साथ अपनी बहेन के वहाँ स्कॉटलैंड रहने गई । तब तक रोवलिंग ने हैरी पॉटर के 3 चैप्टर लिख चुकी थी । ये टाइम रोवलिंग के लिए काफी दुःख भरा था क्युकी एक असफल शादी और बच्ची की जिम्मेदारी । उनके पास कोई काम नहीं था इस वजह से वो डिप्रेशन मै रहने लगी । फिर उन्होंने अपना खर्चा उठाने के लिए वेलफेयर बेनिफिट का फॉर्म भरा जिसके लिए ब्रिटिश सरकार गरीब और सिंगल पेरेंट्स को पैसे देती थी । इस सब परेशानी को झेलते हुये उन्होंने अपना काम बंद नहीं किया ।

JK rowling Life, Books, Awards  and success : 

उनकी पहली बुक Harry Potter and the Philosopher’s Stone ( JK rowling first Novel )  पूरी हुई और उसे उन्होंने 1995 के टाइपराइटर से टाइप किया और इस बुक को पब्लिश करने के लिए पब्लिशर के पास गई लेकिन वहाँ भी उन्हें दर दर ठोकरे खाने पड़ी । 12 पब्लिशिंग हाउस ने उन्हें बुक छापने को मना कर दिया । रोवलिंग के सपनों पर पानी फेरता नज़र आ रहा था लेकिन लंडन के एक पब्लिशिंग हाउस BLOOMSBURY आख़िरकार इस किताब को पब्लिश करने मै तैयार हो गये । लेकिन वहाँ के एडिटर Barry Cunningham को लगता था के ये बुक सफल नहीं होगी इसीलिए उन्होंने रोवलिंग को जॉब करने की सलाह दी । लेकिन 26 जून 1997 को किताब पब्लिश करने के बाद मानो सब कुछ उल्टा हो गया इस बुक को लोगों ने बहुत पसंत किया और 5 महीने बाद ही इस बुक को NESTLE SMARTIES BOOK AWARD और BRITISH BOOK AWARD का CHILCREN BOOK OF THE YEAR अवार्ड दिया गया ।

पढ़िए :  

इस बुक का सीक्वल HARRY POTTER and the chamber of secrets, 2 जुलाई 1998 को पब्लिश हुआ । 8 जुलाई 1999 मै तीसरा नॉवेल और HARRY POTTER and Prisoner of Azkaban रिलीज़ हुआ । 8 जुलाई 2000 को लॉन्च किया गया 4th नॉवेल Harry Potter and the Goblet of Fire ने सभी रिकार्ड्स तोड़ दिये । उसकी 372,755 कॉपी UK मै पहले दिन बीक गई ।

JK rowling Husband , Son : 

2001 मै रोवलिंग ने Neil Murray नाम के एक डॉक्टर से दूसरी शादी की । 24 मार्च 2003 को उनको बेटा हुआ David Gordon Rowling Murray । 21 जून 2003 को Harry Potter नॉवेल की 5 बुक पब्लिश की गई और फिर 2004 मै रोवलिंग किताबे लिखाने वाली अरबपति बनने वाली पहली लेखक बनी । 16 जुलाई 2005 को 6th नॉवेल और 21 जुलाई 2007 को 7 वी और अंतिम किताब आई । सभी रिकार्ड्स तोड़कर बेस्ट सेलिंग बुक्स आल द टाइम बन गई । US और UK मै रिलीज होने के पहले दिन ही 11 मिलियन कॉपी बीक गई और इन बुक्स पर एक के बाद एक फिल्म बनती चली गई ।

JK rowling  Net Worth : $650 Million In 2017

पढ़िए :

यदि आपके पास Hindi में कोई Article,Story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail (spotyourstory@gmail.com) करें.
यदि आपको ये कहानी पसंद आई हो तो इसे जरुर  Facebook, WhatsAPP,Twitter पे शेयर करे अपने दोस्तों के साथ और निचे कमेंट करे.

9 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


हमारी स्टोरी

इस ब्लॉग का मिशन है की ऐसी स्टोरीज लोगो तक पहुचाई जाये जिससे लोग पढ़कर प्रेरित हो और उनके जीवन में लक्ष्य प्राप्त करनेका हौसला और बुलंद हो।

इस ब्लॉग मै सफल बिसनेस स्टोरीज, सोशल स्टोरीज, और कई प्रेरणादायी व्यक्तियों जीवन संघर्ष के बारे मै आपको पढ़नेको मिलेगी।

अगर आपके पास भी कोई ऐसी स्टोरी है जो आपको लगता है की ये समाज मै एक अलग अपनी छाव छोड़ सकती है तो आप हमारे साथ जरुर शेयर करे  ताकि हम उस स्टोरी को और लोगो तक पंहुचा
सकें जिससे और लोगो को लाभ हो।

Write Your story to –  spotyourstory@gmail.com


संपर्क करे

कॉल करे



Subscribe करे ब्लॉग को


Categories