27. October 2021

Pranjal Patil IAS Biography - आँखे न होते हुए भी महाराष्ट्र की लड़की ने पहली प्रयास में पास की IAS परीक्षा

spotyourstoryAugust 25, 2017
दोस्तों आज की कहानी उन लोगों के जीवन में प्रकाश ला सकती है जो आंखें होते हुए भी निराशा के अंधकार में डूबे हैं । जिंदगी में कुछ सार्थक करना चाहते हैं , देश समाज के सच्चे फ्रेंड बनना चाहते हैं, IAS अधिकारी बनकर देश की सेवा करना चाहते हैं तो इस कहानी को अंत तक पढ़िए ।

Pranjal Patil IAS Biography – आँखे न होते हुए भी महाराष्ट्र की लड़की ने पहली प्रयास में पास की  IAS परीक्षा

 

Pranjal Patil IAS –  6 साल की थी जब एक दिन स्कूल के बच्चे ने उसकी एक आंख में पेंसिल घुसा दी । उस हादसे ने उसकी एक आँख छीन ली , साल भर बाद उसकी जिंदगी में पूरा अंधेरा हो गया क्योंकि साइड इफेक्ट ने दूसरी आंख की रोशनी भी खत्म कर दी । 7 साल की उस लड़की के पास मायूसी भरे जीवन जीने की लाखों वजह थी । वह एक छोटी बच्ची थी लेकिन कमजोर नहीं थी ।

महाराष्ट्र के उल्हासनगर में रहने वाली प्रांजल पाटील ( Pranjal Patil IAS ) की कहानी इस बात की तस्दीक करती है कि हिम्मत हौसला और इरादा हो तो कैसे भी शारीरिक अक्षमता आपको कामयाबी के रास्ते पर आगे बढ़ने से नहीं रोक सकती । प्रांजल 26 साल ( Pranjal Patil age 26 years ) की है , आंखों से दिखाई नहीं देता लेकिन पहली बार में यूपीएससी ( UPSC result ) की परीक्षा पास कर ली और 773 ऑल इंडिया रैंकिंग के साथ प्रांजल ने आईएएस अधिकारी बनने की ओर कदम बढ़ा दिया है ।

Pranjal Patil Inspirational example forHow to become an ias officer :

प्रांजल मानती है की उनके माता-पिता का उनकी सफलता में सबसे बड़ा योगदान है । हादसे में गई आंखों के बाद प्रांजल के पिता ने उसे मुंबई के दादर स्थित श्रीमती कमला मेहता स्कूल में दाखिला कराया । यह स्कूल प्रांजल जैसे खास बच्चों के लिए था । पढ़ाई ब्रेल लिपि में होती थी । प्रांजल ने यहां से दसवीं तक की पढ़ाई की । चंदा भाई कौलेज से आर्ट्स में 12वीं कि और वहा ८५% मार्क्स मिले थे । उसके बाद BA की पढ़ाई के लिए प्रांजल ने मुंबई के सेंट जेवियर कॉलेज में एडमिशन लिया था । एक मराठी TV के लिए इंटरव्यू में प्रांजल ने बताया कि वह रोजाना उल्लासनगर से CST तक का सफर करती थी ।

और कुछ प्रेरणादायी कहानी :

हर बार कुछ लोग उनकी मदद करते थे । वह सड़क पार करते थे तो कभी उन्हें ट्रेन में बिठा देते थे , लेकिन कुछ लोग ऐसे भी थे जो तमाम सवाल पूछा करते थे । वह कहते थे कि रोज इतनी दूर करने के लिए क्यों आती हो उल्लास नगर में । वही क्यों नहीं पढ़ लेती लेकिन प्रांजल उनसे कह देती थी की वह पड़ेगी तो इसी कॉलेज में और इसके लिए वह हर मुश्किल के लिए कमर कस चुकी है ।

Pranjal Patil IAS exam preparation :

ग्रेजुएशन करने के दौरान प्रांजल और उनके एक दोस्त ने पहली दफा इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस के बारे में एक लेख पढ़ा । प्रांजल ने यूपीएससी की परीक्षा से संबंधित जानकारी जुटाना शुरू कर दी । उस वक्त प्रांजल ने किसी से जाहिर तो नहीं किया लेकिन मन ही मन आईएएस बनने की ठान ली । ग्रेजुएशन पूरी होतेही प्रांजल दिल्ली पहुची और जेएनयू से MA किया पर प्रांजल के सामने अपना असली लक्ष्य था यूपीएससी परीक्षा की तैयारी।

साल 2015 में तैयारी शुरु की साथी ही साथ MFIL भी चली रही थी । इस दौरान प्रांजल ने आंखों से अक्षम लोगों के लिए बने खास सॉफ्टवेयर Job excess with speech की मदद ली । प्रांजल को अब तक ऐसे लेखन लिखने वाली की जरूरत थी जो उस की रफ्तार के साथ परीक्षा में लिख सके । इस विकल्प की भरपाई विदुषी ने पूरी की, प्रांजल की माने तो परीक्षा के दौरान विदुषी ने उनका बखूबी साथ दिया । प्रांजल बोलती थी तो विदुषी कागज पर उत्तर लिख देती थी , जब भी प्रांजल थोड़ा स्लो होती तो विदुषी उसे डांट भी लगा देती थी । प्रांजल की शादी पेशे से केबल ऑपरेटर को कोमलसिंह पाटिल ( Pranjal Patil IAS Husband  )  से हुई है । प्रांजल अपनी सफलता का श्रेय माता पिता के अलावा दोस्तों और पति को भी देती है । प्रांजल की सफलता इसलिए भी बड़ी है कि यूपीएससी परीक्षा पास करने के लिए उन्होंने किसी कोचिंग की मदद नहीं ली । प्रांजल कहती है कि वह पढ़ाई को एंजॉय करती है ।

और कुछ प्रेरणादायी कहानी :

प्रांजल कहती है कि सफलता आपको प्रेरणा नहीं देती है बल्कि सफलता के लिए किए गए संघर्ष से आपको प्रेरणा मिलती है । लेकिन सफलता जरूरी है क्योंकि तभी दुनिया आपके संघर्ष को तवज्जो देती है । आपके नजरिए और जसबा आप को आगे ले जाती है और हर किसी में क्षमता होती है कि वह एक सुंदर समाज को बना सके हम देश के इस बहादुर बेटी के सुनहरे भविष्य के लिए कामना करते हैं और शुभकामना देते हैं ।

यदि आपके पास Hindi में कोई Article,Story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail (spotyourstory@gmail.com) करें.
यदि आपको ये कहानी पसंद आई हो तो इसे जरुर Facebook, WhatsAPP,Twitter पे शेयर करे अपने दोस्तों के साथ और निचे कमेंट करे.


हमारी स्टोरी

इस ब्लॉग का मिशन है की ऐसी स्टोरीज लोगो तक पहुचाई जाये जिससे लोग पढ़कर प्रेरित हो और उनके जीवन में लक्ष्य प्राप्त करनेका हौसला और बुलंद हो।

इस ब्लॉग मै सफल बिसनेस स्टोरीज, सोशल स्टोरीज, और कई प्रेरणादायी व्यक्तियों जीवन संघर्ष के बारे मै आपको पढ़नेको मिलेगी।

अगर आपके पास भी कोई ऐसी स्टोरी है जो आपको लगता है की ये समाज मै एक अलग अपनी छाव छोड़ सकती है तो आप हमारे साथ जरुर शेयर करे  ताकि हम उस स्टोरी को और लोगो तक पंहुचा
सकें जिससे और लोगो को लाभ हो।

Write Your story to –  spotyourstory@gmail.com


संपर्क करे

कॉल करे



Subscribe करे ब्लॉग को








Categories