07. July 2022

Nana Patekar Biography,Family,Age,Wife,Son,dialogues । नाना पाटेकर की जीवनी

spotyourstoryMarch 6, 2017
Nana Patekar बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री के महान लेखक और फिल्म निर्माता है, नाना पाटेकर जी का असली नाम विश्वनाथ पाटेकर है । उनका जन्म 1 जनवरी 1951 को 'मुरुड-जंजीरा' रायगढ़ महाराष्ट्र में हुआ था ।

Nana Patekar Biography,Family,Age,Wife,Son,dialogues । नाना पाटेकर की जीवनी

ImageSource : indianexpress.com

नाना के पिता का नाम दिनकर पाटेकर और माता का नाम संजना भाई पाटेकर । Nana Patekar ने अपनी पढ़ाई सर्जन इंस्टिट्यूट ऑफ़ अप्लाइड आर्ट मुंबई से ही की । उनका एक बेटा है जिसका नाम मल्हार पाटेकर ( Nana Patekar son Malhar) । नाना पाटेकर और उनकी पत्नी नीलकंठ ज्यादा समय तक नहीं चली और उनका तलाक हो गया । नाना पाटेकर फ़िल्में अपने खूबसूरत अभिनय के साथ साथ समाज की सेवा करने में भी सबसे आगे रहते हैं ।

जब कभी देश में किसी भी तरह की कोई घटना होती है तो बॉलीवुड से कोई बोले या ना बोले लेकिन नानाजी खुलकर सामने आते हैं । फिर चाहे वह कश्मीर मुद्दा हो या किसानों का मुद्दा हो । नानाजी किसानों के बहुत बड़े समर्थक है । जब भी देश में किसी कारणवश किसान आत्महत्या करते हैं तो सरकार पर बरसते हैं । ऐसा नहीं है कि वह किसानों के लिए कुछ नहीं करते वह हमेशा देश के किसानो की मदद करते हैं ।

और कुछ प्रेरणादायी कहानी :

नानाजी ने अपने दोस्त मकरंद अनासपुरे के साथ मिलकर किसानों की मदद के लिए ‘नाम फाउंडेशन’ ( Naam Foundation ) बनाया है । सन 1989 में उन्होंने फिल्म परिंदा में काम किया इस फिल्म में विलेन का किरदार निभाया । इस फिल्म में नाना जी को बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री में एक खास पहचान नानाजी ने बॉलीवुड फिल्मों के साथ-साथ मराठी फिल्मों में भी काम किया ।

2007 में नाना जी ने फिल्म Wellcome में काम करके साबित कर दिया कि वह कॉमेडी फ़िल्म भी कर सकते हैं । इस फिल्म में नाना जी को खूब हंसाया ।  नाना जी ने अपने फिल्मी कैरियर में फिल्म परिंदा , क्रांतिवीर ,अग्निसाक्षी ,गुलाम-ए-मुस्तफा , कोहराम , ब्लफ मास्टर, अपहरण, वेलकम, राजनीति, कमाल धमाल, अब तक छप्पन जैसी और भी बहुत सी सुपर हिट फिल्में दी है ।

Nana Patekar Film Awards :

नाना जी को सन 1990 में फिल्म परिंदा में सर्वश्रेष्ठ गायक कलाकार के लिए फिल्मफेयर पुरस्कार मिला । 1995 में फिल्म क्रांतिवीर में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के लिए फिल्मफेयर पुरस्कार, 2006 में सर्वश्रेष्ठ खलनायक फिल्म फेयर पुरस्कार मिला । 2013 में भारत सरकार द्वारा पद्म श्री पुरस्कार दिया गया है । उनकी फिल्म के डायलॉग बोलने की कला सभी को पसंद आती है ।

नाना की फिल्मों के साथ-साथ सामाजिक कामो में सबसे आगे रहते हैं । वह किसानों के लिए योगदान देते हैं , वह काबिले तारीफ है ।

और कुछ प्रेरणादायी कहानी :

यदि आपके पास Hindi में कोई Article,Story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail (spotyourstory@gmail.com) करें.
यदि आपको ये कहानी पसंद आई हो तो इसे जरुर शेयर करे अपने दोस्तों के साथ और निचे कमेंट करे.


हमारी स्टोरी

इस ब्लॉग का मिशन है की ऐसी स्टोरीज लोगो तक पहुचाई जाये जिससे लोग पढ़कर प्रेरित हो और उनके जीवन में लक्ष्य प्राप्त करनेका हौसला और बुलंद हो।

इस ब्लॉग मै सफल बिसनेस स्टोरीज, सोशल स्टोरीज, और कई प्रेरणादायी व्यक्तियों जीवन संघर्ष के बारे मै आपको पढ़नेको मिलेगी।

अगर आपके पास भी कोई ऐसी स्टोरी है जो आपको लगता है की ये समाज मै एक अलग अपनी छाव छोड़ सकती है तो आप हमारे साथ जरुर शेयर करे  ताकि हम उस स्टोरी को और लोगो तक पंहुचा
सकें जिससे और लोगो को लाभ हो।

Write Your story to –  spotyourstory@gmail.com


संपर्क करे

कॉल करे



Subscribe करे ब्लॉग को








Categories