18. July 2018

Baba Ramdev And Patanjali Ayurved Success Story । पतंजली की सक्सेस स्टोरी

spotyourstoryMarch 2, 2018
इंसान असफल तब नहीं होता जब वो हार जाता है असफल तब होता जब वो ये सोचले की वो जित नहीं सकता, जीवन को छोटे उददेश के लिए जीना जीवन का अपमान करना है, यही कहना है रामकृष्ण यादव उर्फ़ बाबा रामदेव का ।

Baba Ramdev And Patanjali Ayurved Success Story । पतंजली की सक्सेस स्टोरी

ImageSource : www.socialsamosa.com

जिन्हें भारत मै नहीं पूरी दुनिया मै जाना जाता है । उन्होंने आचार्य बालकृष्ण से मिलके पतंजली आयुर्वेद की स्थापना की जिसने बड़े बड़े MNC कंपनी के पसीने निकाल दिये लेकिन उन्हें ये सफलता रातोरात नहीं मिली इसके पीछे बाबा रामदेवजी ( Baba Ramdev  ) और आचार्य बालकृष्णजी ( Acharya Balkrishna ) की 20 साल की कड़ी तपस्या और उनका विश्वास है ।

बाबा रामदेव जी का जन्म 12 दिसम्बर 1965 को हरियाणा के एक छोटेसे गाव मै हुआ । उन्होंने अपने 8वी तक की पढाई अपने नजदीकी गाव से की जिसके कुछ टाइम बाद वो योग की शिक्षा के लिए आचार्य बालदेव जी के गुरुकुल मै चले गये जो एक छोटेसे गाव मै था । बाबा रामदेव जी के शरीर का बाया हिस्सा पैरालिसिस हो गया तब उन्हें योग करने की सलाह दी गई जिसके बाद वो रोजाना योग करने लगे और उनके हालत मै सुधार आने लगा । योग के इस चमत्कार को देख के बाबा रामदेव जीने योग के बारे मै और जानने का फैसला किया और आचार्य धरमवीर के गुरुकुल मै शामिल हो गये । धीरे धीरे बाबा रामदेव जी योग की शिक्षा हरियाणा के लोगो को देने लगे वही गुरुकुल मै उन्हें एहसास हुआ अगर दुनिया मै बदल लाना है तो संसारिक जीवन त्यागना होगा । इसी विचार के साथ संन्यासी का जोगा पहन कर स्वामी रामदेव नाम धारण कर लिया और हिमालय की यात्रा के लिए निकल पड़े ।

पढ़िए : JK Rowling Biography in Hindi । जे के रोवलिंग की जीवनी

हिमालय से लौटने के बाद उनकी मुलाकात आचार्य बालकृष्ण जी से हुई और वो हरिद्वार आ गये । 1995 मै दिव्य योग संस्था की स्थापना की गई जिसका काम जनता के बीच योगा का प्रचार करना था । धीरे धीरे लोग बाबा रामदेव जी के साथ जुड़ने लगे और कैम्प लगाकर लोगों को योगा करवाने और उसके बारे मै बताने लगे । 2003 मै बाबा रामदेव जी के साथ आस्था चैनल जुड़ा उनके योग कैम्प के लाइव टेलीकास्ट के जरिये देश के आधे से ज्यादा जनता को योग के बारे मै जानने को मिला और लाखो लोग उनके साथ जुड़ गये । तभीसे वो लोकप्रिय हो गये ।

1995 मै बाबा ने आचार्य बालकृष्ण के साथ मिलकर दिव्य फार्मेसी की शुरवात की । ये कंपनी आयुर्वेदिक और हर्बल दवाई बनाती थी धीरे धीरे ये दवाई लोगो के बीच फेमस होने लगी । लेकिन बाबा रामदेव और बालकृष्ण दुसरे उत्पादन मै भी पैर रखना चाहते थे पर दिव्य फार्मेसी एक ट्रस्ट के अन्दर रजिस्टर थी जिसके कारण ये काम करना मुश्किल था ।

फिर बाबा रामदेव जी और बालकृष्ण जी ने लोन लेकर 2006 मै पतंजली आयुर्वेद की शुरुवात की और अलग अलग तरह के प्रोडक्ट बनाने लगे । बाबा रामदेव जी ने इस संस्था का नाम महान योगी महर्षी पतंजली के नाम से रखा । एक टाइम था की बाबा रामदेव जी और बालकृष्ण जी के पास कंपनी रजिस्टर करने के लिये पैसे नहीं थे । 1995-1998 तक बाबा रामदेव जी मुफ्त मै दवाई बाटा करते । वे खुद हि कच्चा माल खरीदते और उसे कूटकर दवाई तयार करते । लेकिन बाबा रामदेव जी का योगा और आयुर्वेद के प्रचार के कारण लोगों के अंदर आयुर्वेद के लिए विश्वास जगने लगा । आज जहातर लोगों को लगता है की बाबा रामदेव पतंजली की पूरी संपति के हक़दार है । वो सिर्फ पतंजली के ब्रांड एम्बेसडर और सहायक है । उनकी पतंजली मै कोई भी और कैसी भी हिस्सेदारी नहीं है ।

पढ़िए : सुंदर पिचाई-तमिलनाडु के गलियों से दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी के CEO बनने का सफर तय किया

पतंजली का 94% हिस्सा आचार्य बालकृष्ण ( Acharya Balkrishna net worth )  के पास है । एक इंटरव्यू मै आचार्य जीने बताया की हलाकि वो पतंजली के CEO है पर वो अपनी सैलरी नहीं लेते और दिनमे 15 घंटे काम करते है । बाबा रामदेव जीने योग और टीवी के जरिये एक strong कम्युनिटी बनाई है और पतंजली के प्रोडक्ट को लॉन्च किया है । आज पतंजली मै 2 लाख से ज्यादा लोग काम करते है और पतंजली 400 से भी ज्यादा प्रोडक्ट बनाती है जिसमे बड़ी बड़ी MNC कंपनी जैसे कोलगेट, नेस्ले के पसीने निकाल दिये । बाबा रामदेव कहते है भारत का पैसा भारत मै रहना चाहिये । पतंजली ने 2016 मै 5000 करोड़ से भी ज्यादा बिज़नस किया है और अब उनका टारगेट 50000 करोड़ का है । आचार्य बालकृष्ण 2017 मै भारत के 8वे आमिर इंसान है और आज इनका PATANJALI NET WORTH 6.5 बिलियन डॉलर है ।

पढ़िए : WittyFeed – एक फेसबुक पेज से शुरू हुई थी कंपनी, आज है 30 करोड़ का कारोबार

पढ़िए : Flipkart – 2007 में शुरू की सचिन और बिन्नी बन्सल कंपनी, वो आज भारत मै देती है Amazon को टक्कर

यदि आपके पास Hindi में कोई Article,Story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail (spotyourstory@gmail.com) करें.
यदि आपको ये कहानी पसंद आई हो तो इसे जरुर Facebook, WhatsAPP,Twitter पे शेयर करे अपने दोस्तों के साथ और निचे कमेंट करे.


हमारी स्टोरी

इस ब्लॉग का मिशन है की ऐसी स्टोरीज लोगो तक पहुचाई जाये जिससे लोग पढ़कर प्रेरित हो और उनके जीवन में लक्ष्य प्राप्त करनेका हौसला और बुलंद हो।

इस ब्लॉग मै सफल बिसनेस स्टोरीज, सोशल स्टोरीज, और कई प्रेरणादायी व्यक्तियों जीवन संघर्ष के बारे मै आपको पढ़नेको मिलेगी।

अगर आपके पास भी कोई ऐसी स्टोरी है जो आपको लगता है की ये समाज मै एक अलग अपनी छाव छोड़ सकती है तो आप हमारे साथ जरुर शेयर करे  ताकि हम उस स्टोरी को और लोगो तक पंहुचा
सकें जिससे और लोगो को लाभ हो।

Write Your story to –  spotyourstory@gmail.com


संपर्क करे

कॉल करे



Subscribe करे ब्लॉग को


Categories