18. July 2018

Ajit Doval story in Hindi । अजित डोवल की जीवनी

spotyourstoryJune 19, 2018
अजीत न सिर्फ़ एक बेहतरीन खूफ़िया जासूस हैं बल्कि एक बढ़िया रणनीतिकार भी हैं, वे कश्मीरी अलगाववादियों जैसे यासिन मलिक, शब्बीर शाह के बीच भी उतने ही popular हैं जितना भारत के आला अफ़सरों के बीच – अगर उन्हें एक बेहतरीन मनोवैज्ञानिक कहा जाए तो अतिशयोक्ति नहीं होगी।

Ajit Doval story in Hindi । अजित डोवल की जीवनी

 

हिंदुस्तान का एक ऐसा जासूस जिसे जेम्स बॉण्ड की तरह तेज तरार माना जाता है । एक ऐसा जासूस जो 7 साल मुसलमान बनके पाकिस्तान में रह चूका हैं । वहा के ISIS को भनक भी नहीं लगी । भारतीय सेना में ना रहकर भी सेना का दूसरा सबसे बड़ा पुरस्कार कीर्ति चक्र से सम्मानित होनेवाले पहले हिन्दुस्तानी । जिनके कहने पर मोदी जी ने पाकिस्तान के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक जैसा कदम उठाया । जी हाँ उनका नाम है अजित डोवाल ( Ajit Doval story ) , जो इस समय राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार हैं ।

 

Ajit Doval Childhood Life, Education, Family : 

अजित डोवाल का जन्म 20 जनवरी 1945 ( Ajit Doval Birthdate ) को उत्तराखंड के पौरी गडवाल में हुआ हैं । अजित डोवाल ने राष्ट्रीय मिलिट्री स्कूल अजमेर से शुरुवाती पढाई की है । आग्रा यूनिवर्सिटी से इकोनॉमिक्स में मास्टर डिग्री ली । उसके बाद वो IPS की तयारी करने लगे । उनके अन्दर देशभक्ति की भावना बचपन से ही थी और देश के प्रति प्यार अपने पिता से सिखा क्यूंकि उनके पिता इंडियन आर्मी ऑफिसर थे ।

 

Ajit Doval Career & Awards  :

1968 में वो IPS के लिए चुने गये । अजित डोवाल सबसे यंगेस्ट ऑफिसर थे जिन्हें मेरिटोरियस सर्विस के लिए पोलिस मेडल से सन्मानित किया गया । ये मेडल उन्होंने 6 साल के सर्विस में पा लिया था जो की उसे पाने में बाकी पोलिस ऑफिसर को 17 से 18 साल लगते थे । इसके बाद डोवाल ने बहोत बड़े काम किये, 80 के दशक में आतंकवादीओ ने जब पंजाब के अमृतसर में हमला किया तब डोवाल वहा पाकिस्तानी एजेंट बनकर दाखिल हो गये । 1986 में ऑपरेशन ब्लैक थंडर ( Operation Black Thunder )  को जब अंजाम दिया गया तब उसमे 300 आतंकवादियोको मंदिर परिसर से गिरफ्तार किया गया और पाकिस्तानी एजेंट बनकर डोवाल ने भारत को कही सारी जानकारी दी हैं । अजित डोवाल को स्वर्णमंदिर के काम के लिए सर्वोच्च गैलेंट्री अवार्ड कीर्ति चक्र से सनमानीत किया गया । अजित डोवाल एक IPS ऑफिसर थे लेकिन उनकी सूज बुझ और बहादुरी भरे कारनामो की कारण UPA के सरकार के दौरान उन्हें वर्ष 2004 में Intelligence Bureau के डायरेक्टर पद पर नियुक्त किया गया पर वो जनवरी 2005 में डायरेक्टर पद से रिटायर हो गये । अजित डोवाल ने अपने सर्विस के दौरान बहोत जोखिम भरे ऑपरेशन को अंजाम दिया है ।

 

और कुछ प्रेरणादायी विचार :

 

अजित डोवाल की कुछ ऐसी बातें जो उन्हें कुछ और खास बनाती है ( Unknown Facts About  Ajit Doval  ) :

पाकिस्तान में undercover agent की भूमिका के बाद वे इस्लामाबाद में स्थित Indian High Commission के लिए 6 वर्षों तक काम करते रहे।

उन्होंने कश्मीर के विरोधी “कूका परे” (Kuka Parray) और उसके साथी लड़ाकों को प्रतिवादी ताकत बनने के लिए मना लिया – इसकी वजह से जम्मू कश्मीर में 1996 से चुनाव हो रहे हैं।

अजीत न सिर्फ़ एक बेहतरीन खूफ़िया जासूस हैं बल्कि एक बढ़िया रणनीतिकार भी हैं, वे कश्मीरी अलगाववादियों जैसे यासिन मलिक, शब्बीर शाह के बीच भी उतने ही popular हैं जितना भारत के आला अफ़सरों के बीच – अगर उन्हें एक बेहतरीन मनोवैज्ञानिक कहा जाए तो अतिशयोक्ति नहीं होगी।

सन् 1986 में वे Mizoram में field agent की भूमिका में थे। वहां उन्होंने Mizo National Front बना कर भारत सरकार के खिलाफ़ हथियार उठा चुके लड़ाकों को समझा-बुझा कर और बल पूर्वक हथियार छोड़ने हेतु मना लिया। उन्होंने Mizo fighters को शांति मार्ग पर चलने हेतु प्रेरित किया – इस पूरे प्रकरण और भारतीय राज्य मशीनरी के घुसपैठ से Mizo fighters का मनोबल टूट गया, और इस प्रकार 20 सालों से चली आ रही अंतर्कलह व विरोध का अंत हो गया।

पाकिस्तान में undercover agent की भूमिका के बाद वे इस्लामाबाद में स्थित Indian High Commission के लिए 6 वर्षों तक काम करते रहे। क्या आपको कांधार में IC-814 का अपहरण याद है? इस पूरे प्रकरण में अपहृत लोगों को सुरक्षित वापस बुलाने में उनकी अहम भूमिका थी – सन् 1971 से 1999 के बीच वे 15 ऐसे अपहरण के मामले सुलझा चुके हैं।

 

और कुछ प्रेरणादायी कहानी :

 

यदि आपके पास Hindi में कोई Article,Story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail (spotyourstory@gmail.com) करें.
यदि आपको ये कहानी पसंद आई हो तो इसे जरुर Facebook, WhatsAPP,Twitter पे शेयर करे अपने दोस्तों के साथ और निचे कमेंट करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


हमारी स्टोरी

इस ब्लॉग का मिशन है की ऐसी स्टोरीज लोगो तक पहुचाई जाये जिससे लोग पढ़कर प्रेरित हो और उनके जीवन में लक्ष्य प्राप्त करनेका हौसला और बुलंद हो।

इस ब्लॉग मै सफल बिसनेस स्टोरीज, सोशल स्टोरीज, और कई प्रेरणादायी व्यक्तियों जीवन संघर्ष के बारे मै आपको पढ़नेको मिलेगी।

अगर आपके पास भी कोई ऐसी स्टोरी है जो आपको लगता है की ये समाज मै एक अलग अपनी छाव छोड़ सकती है तो आप हमारे साथ जरुर शेयर करे  ताकि हम उस स्टोरी को और लोगो तक पंहुचा
सकें जिससे और लोगो को लाभ हो।

Write Your story to –  spotyourstory@gmail.com


संपर्क करे

कॉल करे



Subscribe करे ब्लॉग को


Categories